Sun. Jun 13th, 2021

    दिव्या खोसला कुमार, पर्ल वी पुरी के खिलाफ चल रहे केस में उनके सपोर्ट में खड़ी हुईं, जिसके अंतर्गत उन्होंने पर्ल के नेचर तथा रेप्युटेशन के लिए सच्ची कहानी अपलोड की।
    एक्ट्रेस द्वारा अपने इंस्टाग्राम पेज पर कहानी पोस्ट करने के बाद, वे दुर्भाग्य से सोशल मीडिया ट्रोल्स का शिकार हो गईं और उन्हें बड़ी संख्या में अभद्र और आहत करने वाले मैसेजेस का सामना करना पड़ा।
    उन्होंने शेयर किया है-
    मेरे हैंडल पर कुछ कमेंट्स हैं कि मैं #pearlvpuri केस में खुद जज बनने की कोशिश क्यों कर रही हूँ.. ठीक है, मैं आप सभी को भी थोड़ा अपडेट कर दूँ…. पर्ल के पिता का कुछ महीने पहले निधन हो गया है, और उनकी माँ जानलेवा बीमारी से पीड़ित हैं… पर्ल पर 5 साल की बच्ची के रेप का आरोप लगाया गया है, जिसके लिए पॉक्सो एक्ट के तहत कोई जमानत नहीं है.. अब उनके लिए केस कौन लड़ेगा… उनके लिए वकील कौन हायर करेगा और सभी पेचीदगियों को भी देखें… उनकी बीमार माँ एक सीनियर सिटीजन हैं और हर कुछ सेकंड्स में रोने लगती हैं… पर्ल अपना केस लड़ने और अपनी बेगुनाही साबित करने के लिए तैयार हैं, लेकिन कम से कम उन्हें जमानत पर रिहा तो किया जाए। वे कहीं भाग तो नहीं रहे हैं न। लेकिन अपना बचाव करने के लिए उनसे बुनियादी मानव अधिकार क्यों छीने जा रहे हैं? क्यों???????
    दिव्या खोसला कुमार ने निश्चित रूप से बहुत सारे लोगों के लिए एक मिसाल कायम की है और उन्हें पर्ल वी पुरी के सपोर्ट में खड़े होने के लिए प्रेरित किया है।

    यहाँ तक कि उन्होंने अपनी पोस्ट पर गलत कमेंट करने वालों को भी सत्य से अवगत करने का साहस किया, कुछ ऐसा जो बहुत से लोग नहीं करते हैं। हम उनके लिए और अधिक शक्ति की कामना करते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *