Sun. Aug 1st, 2021

    Live Radio


    -​ 90 फीसदी से ज्यादा होता है पानी
    गर्मी का रसीला फल तरबूज बच्चों के लिए फायदेमंद माना जाता है लेकिन बच्चों के तरबूज खिलाना शुरू करने से पहले आपको ये जान लेना चाहिए कि किस उम्र से शिशु को तरबूज खिलाना सही रहता है। ​तरबूज में 90 फीसदी से ज्यादा पानी होता है और इसलिए शरीर में पानी की कमी होने से रोकने के लिए तरबूज सबसे अच्छा फल है। आप शिशु को 6 महीना का होने के बाद तरबूज खिला सकते हैं। वहीं गर्मी में भी आप 6 महीने से आठ महीने के बच्चे को तरबूज खिलाना शुरू कर सकते हैं। तरबूज में पानी, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, शुगर, एनर्जी, फाइबर, थि यामिन, विटामिन बी6, विटामिन ए, विटामिन के, विटामिन सी, नियासिन, फोलेट, विटामिन ई, आयरन, फास्फोरस, जिंक, कैल्शियम, मैग्नीशियम और सोडियम होता है। ये भी पोषक तत्व शिशु के विकास में मदद करते हैं। बच्चों को तरबूज खाने से एलर्जी हो, ऐसा दुर्लभ ही देखा गया है। अगर आपका बच्चा बहुत सेंसिटिव है तो उसे तरबूज के एसिडिक होने के कारण स्किन पर रैशेज हो सकते हैं। इससे दस्त, नाक बहना और उल्टी भी हो सकती है। वहीं अगर तरबूज के बीज बच्चे के गले में अटक जाए तो उसका दम भी घुट सकता है। गर्मी के मौसम में शिशु के शरीर को हाइड्रेट रखना बहुत जरूरी है इसलिए बिना कोई देर किए अपने 6 महीने से बड़े बच्चे को तरबूज खिलाना शुरू कर दें। बता दें कि बच्चों को हर चीज खिलाने की एक उम्र होती है जैसे कि 6 महीने तक शिशु केवल मां का दूध पीना शुरू करता है और फिर इसके बाद धीरे-धीरे उसे ठोस आहार दिया जाता है। बच्चों के सही विकास के लिए उन्हें फल-सब्जियां भी दी जाती हैं और गर्मियों में तो कई तरह के फल आते हैं जो शिशु को अनेक पोषक तत्च प्रदान कर सकते हैं।

    Live Sachcha Dost TV

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *