Sun. Aug 1st, 2021

    Live Radio


    महिलाओं में एनीमिया और कुपोषण के लिए उपचार
    मुंबई, दिसंबर 2020:
    कोलकाता स्थित मैग्मा फाउंडेशन जनवरी 2021 में 54 स्वास्थ्य शिविर सम्पूर्ण भारत में मेजबानी करके नए साल का स्वागत करेगा, जिसमें ग्रामीण गरीबों को गुणवत्ता पूर्ण उपचार दिया जाएगा। इन शिविरों से अनुमानित 5000 लोग लाभान्वित होंगे।


    भारत में एनीमिया व्यापक रूप से फैला हुआ है, लगभग 58.6% बच्चों और 50.4% गर्भवती महिलाओं को एनीमिक पाया गया है, जैसी कि रिपोर्ट उपलब्ध है। लगभग 50 वर्षों से एनीमिया नियंत्रण कार्यक्रम होने के बावजूद भारत इस बीमारी का बोझ ढो रहाहै। प्रस्तावित जेनेरिक ओपीडी स्वास्थ्य शिविर का उद्देश्य शहर की सीमा से दूर रहने वाले गरीबों को गुण वत्तापूर्ण उपचार प्रदान करना है, जहां स्वास्थ्य का बुनियादी ढांचा अभी कमजोर है। शिविर में हीमोग्लोबिन, रक्तचाप, रक्त शर्करा और बीएमआई जैसे परीक्षण भी किए जाएंगे और सामान्य ओटीसी दवाए मुफ्त में दी जाएंगी।
    मैग्मा फाउंडेशन के ट्रस्टी- कौशिक सिन्हा ने बताया, “भारत को ऐसे कार्यक्रमों की अधिक जरूरत है, खास कर गरीब महिलाओं को एनीमिया और कुपोषण से निपटने में। मैग्मा फाउंडेशन पिछले 3 वर्षों से इस क्षेत्र में काम कर रहा है और हमारे 300 एम केयर शिविरों के माध्यम से, अब तक लगभग 25,000 गरीब लोग लाभान्वित हुएहैं। महामारी के कारण थोड़े अंतराल के बाद हम फिर से इन शिविरों को फिर से शुरू कर रहे हैं। हम सुनिश्चित करेंगे कि इन शिविरों में COVID 19 मानदंडों का कड़ाई से पालन किया जाए और प्रत्येक आने वाले रोगी कोमास्क का उपयोग करने और सामाजिक दूरी के बारे में जागरूकता पैदाकरने के लिए मास्क वितरित करेंगे ”
    मैग्मा लगातार गरीबोंऔ रहा शिए पर रहने वाले लोगों को स्वास्थ्य लाभ प्रदान करने के लिए काम कर रहा है। मैग्मा हाईवे हीरोज कैंप के माध्यमसेएम केयर के शिविरोंकेअलावा, जो ट्रक सुरक्षा समुदाय को गुणवत्तासुरक्षा प्रशिक्षण और ईंधन प्रबंधन सहित सेवाओं की पेशकश करने के उद्देश्य से है।मैग्मा ने पिछले 5 वर्षों के दौरान लगभग 1(एक)लाख ट्रक ड्राइवरों को स्वास्थ्य लाभ प्रदान किया है।


    अधिक जानकारी के लिए, संपर्ककरें:
    डायना मोंटेइरो, कॉर्पोरेट संचार, मैग्मा फिनकॉर्पलि।
    ईमेल: diana.monteiro@magma.co.in

    Live Sachcha Dost TV

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *