Friday ,22-Mar-19 ,

आतंक के खिलाफ मनमोहन से ज्यादा सख्त मोदी: शीला दीक्षित

  • Post on 2019-03-14

नई दिल्ली, । दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की प्रदेश इकाई की प्रमुख शीला दीक्षित के एक बयान से राजनीतिक गलियारों में हलचल मच गई है। एक तरफ कांग्रेस पार्टी शीला के बयान को लेकर पशोपेश में है, वहीं भारतीय जनता पार्टी ने उनके बयान का स्वागत किया है। दरसअल शीला दीक्षित ने एक साक्षात्कार में कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आतंक के खिलाफ जितने सख्त हैं उतना पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह नहीं थे। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि मोदी की कार्रवाई राजनीतिक लाभ पाने के लिए ज्यादा है। शीला दीक्षित के बयान पर भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने ट्वीट कर उनका धन्यवाद दिया है। उन्होंने कहा कि शीला ने वो बात कह दी जिसे कांग्रेस अभी तक स्वीकार नहीं कर रही है। एक टीवी चैनल को दिए साक्षात्कार में 26/11 के हमले के बाद कांग्रेस के रुख को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में शीला ने कहा कि वह मानती हैं कि मनमोहन सिंह नरेन्द्र मोदी जितने सख्त और पक्के इरादे वाले नहीं थे लेकिन उन्हें यह भी लगता है कि मोदी यह सब राजनीति के लिए कर रहे हैं। इस पर बाद में शीला दीक्षित ने ट्विटर के जरिए सफाई देने की कोशिश भी की। उन्होंने कहा कि उनके बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है। उन्होंने कहा था कि कुछ लोग कह रहे हैं कि मोदी सख्त हैं लेकिन उन्हें लगता है कि सब राजनीति के लिए हो रहा है। उल्लेखनीय है कि 26 नवंबर,2008 को मुंबई में समुद्र के रास्ते आए आतंकियों ने ताज होटल सहित कुछ स्थलों को अपना निशाना बनाया था। इस हमले में 150 लोग मारे गए थे। उस समय मनमोहन सरकार ने पाकिस्तान पर सैन्य कार्रवाई की इजाजत नहीं दी थी।