Friday ,22-Mar-19 ,

टैफे के जेफार्म सर्विसेज को कृषि के क्षेत्र में उत्कृष्ट पहलकर्मी के लिये रुरल मार्केटिंग फोरम एंड अवार्ड्स समारोह में कृषि पुरस्कार से सम्मानित किया गया

  • Post on 2019-03-14

चेन्नई: टैफे द्वारा संचालित जेफार्म सर्विसेज को रूरल मार्केटिंग फोरम और अवार्ड्स 2019 में "एग्रीकल्चर इनिशिएटिव ऑफ द इयर" और "इनोवेटिव आइडियाज फॉर रूरल डेवलपमेंट" अवार्ड से सम्मानित किया गया। जेफार्म सर्विसेज, संख्या के आधार पर दुनिया के तीसरे सबसे बड़े ट्रैक्टर निर्माता, टैफे (ट्रैक्टर्स एंड फार्म इक्विपमेंट लिमिटेड) का ट्रैक्टर और कृषि उपकरण किराये पर उपलब्ध कराने वाला प्लेटफार्म है। इन शीर्ष सम्मानों के अलावा, टैफे को सामाजिक पहलकर्मी के लिये ऑर्गनाइजेशन विद बेस्ट सीएसआर प्रैक्टिसेज फॉर रूरल डेवलपमेंट के रूप में मान्यता पत्र प्रदान किया गया। टैफे का जेफार्म सर्विसेज एक सामाजिक (सीएसआर) पहल है, जो ‘कल्टिवेटिंग द वर्ल्ड’ की इसकी सोच से संचालित है, और इस पहल का उद्देश्य पूरे भारत में किसानों के जीवन को समृद्ध बनाना है। भारत में 80 प्रतिशत से अधिक भूमि छोटे और सीमांत किसानों के पास हैं, जो अधिकतर ट्रैक्टरों या उपकरणों को खरीदने में सक्षम नहीं हैं। इसलिए टैफे का जेफार्म सर्विसेज ऐप इन किसानों को सीधे अपने किसान-से-किसान-तक (एफ2एफ) प्लेटफॉर्म के माध्यम से ट्रैक्टर मालिकों और कस्टम हायरिंग सेंटरों (सीएचसी) से जोड़ती है, जिससे गुणवत्ता, निर्भरता और समय पर डिलीवरी पर ध्यान केंद्रित करते हुए निष्पक्ष और पारदर्शी किराये की प्रक्रिया की सुविधा मिलती है। जेफार्म सर्विसेज किसानों और किरायेदारों को कृषि उपकरण का विस्तृत रेंज प्रदान करता है और उन्हें कीमत के बारे में बातचीत करने और अपनी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए सीधे जोड़ता है। इस अग्रणी मंच के साथ, टैफे किसानों की आय को बढ़ाने के लिए टेक्नोेलॉजी-आधारित साझा अर्थव्यवस्था के फायदे उपलब्ध कराता है। जेफार्म सर्विसेज एंड्रायड ऐप के माध्यम से या टोल-फ्री हेल्पलाइन 1800-4-200-100/1800-208-4242 पर संपर्क करके किसान ट्रैक्टर और उपकरण किराये पर ले सकते हैं। यह ऐप विभिन्न क्षेत्रीय भारतीय भाषाओं में काम करता है और इसे कम लागत वाले एंड्रॉइड फोन में भी उपयोग में लाया जा सकता है। ऐप की डिजाइन ऐसे की गई है कि यह बहुत कम डेटा पर भी चल सके। जेफार्म सर्विसेज ऐप, डिजिटल इंडिया की पहल का शानदार उदाहरण है, जो भारतीय कृषि को लाभ पहुंचाने के लिए तैयार किया है। टैफे की यह सेवा भारतीय किसानों के डिजिटल सशक्तिकरण को बढ़ावा देगी और नये ग्रामीण उद्यमियों की एक नई नस्ल तैयार करेगी और रोजगार के महत्वपूर्ण अवसर उपलब्ध करायेगी। यह पहल 2017 में अपनी स्थापना के बाद से किराये पर लिये गये कृषि उपकरणों के उपयोग में 405,000 से अधिक घंटो के लिये सफलता पूर्वक इस्तेमाल हो चुका हैं और भारत के 10 राज्यों के 85,000 से अधिक किसानों के जीवन को सकारात्मक रूप से प्रभावित कर चुकी है। वर्तमान में, जेफार्म सर्विसेज राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार, ओडिशा, झारखंड, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में उपलब्ध है, और सभी के लिए कृषि उपकरणों को व्यवहारिक तौर पर उपयोग करने में आसान और सस्ता बनाती है। जेफार्म सर्विसेज, कुछ ही समय में भारत का ट्रैक्टर और कृषि उपकरण किराये पर उपलब्ध कराने वाला अग्रणी प्लेटफॉर्म बन गया है।