मौसम

महालक्ष्मी की विशेष कृपा ऐसे होगी

शुक्र ग्रह और चंद्रमा की पूजा करने से महालक्ष्मी की विशेष कृपा प्राप्त होती है। वहीं कुछ कार्यों के करने से मां लक्ष्मी नाराज हो जाती हैं और घर में दरिद्रता का वास होने लगता है, इसलिए भूलकर भी इन कार्यों को ना करें। जन्म कुंडली में शुक्र ग्रह और चंद्रमा को स्त्री कारक ग्रह माना जाता है। शुक्र ग्रह और चंद्रमा की पूजा करने से महालक्ष्मी की विशेष कृपा प्राप्त होती है। शुक्र और चंद्रमा की प्रसन्नता के लिए घर में काले और नीले रंग का प्रयोग बिल्कुल नहीं करना चाहिए। अपने घर के दक्षिण पूर्वी भाग में रसोई घर जरूर बनाएं। हर रोज रसोई घर में काम करने से पहले घर की महिलाएं घर की इसी दि...

Read More
स्‍वाइन फ्लू से इस प्रकार करें बचाव

मौसम में बदलाव आ रहा है और ऐसे में स्‍वाइन फ्लू के सबसे ज्‍यादा मामले सामने आते हैं पर इस रोग से डरने की जरूरत नहीं है, बल्कि इसकी जगह इससे बचाव के तरीके अपनायें। लक्षण स्‍वाइन फ्लू हमारे श्‍वसन तंत्र से जुड़ी बीमारी है। यह एच1एन1 वायरस से होता है। यह आम फ्लू या सर्दी-जुकाम की तरह होता है, इसलिए यह खांसने, छींकने या सांस से फैलता है। मरीज जिन चीजों के संपर्क में आया होगा उन्‍हें छूने से भी यह फैलता है। इसके सामान्‍य लक्षण इस प्रकार हैं: नाक बहना, छींक आना मांसपेशियों में दर्द या अकड़न सिर में भयानक दर्द खांसी आना, कफ बनना बुखार होना, शरीर दर्द, कमजोरी गले में खराश और दर्द स्...

Read More
दुल्हनों के लिए आयी वन पीस मोनोकनी

बदलते जमाने के साथ ही हर कोई अपनी शादी के दिन खास दिखना चाहता है और ऐसे में दुल्हनें भी तरह-तरह के प्रयोग करने से हिचकिचा नहीं रही हैं। पैरिस में आयोजित हुए शो में मॉडल विटोरिया केरेटी वन पीस बाथिंग सूट में रैंप वॉक करते हुए नजर आईं। इस पूरी ब्राइडल मोनोकनी में हैवी एम्बेलिशमेंट थी और वेस्ट डिफाइनिंग कटआउट था। इसके अलावा इस आउटफिट में ब्राइडल स्विम कैप और चमकदार लंबा वेल था। अब ये तो नहीं पता कि यह ट्रेंड लोगों को कितना भाएगा लेकिन बीच साइड और पूल साइड प्री वेडिंग पार्टी के लिए यह परफेक्ट साबित हो सकता है। इससे पहले एक और अजीबो-गरीब फैशन देखने को मिला था। डच डिजाइनर आइरिस...

Read More
ठंड में नहाने की जगह इन उपायों से रखे खुद को फ्रेश

ठंड के दिनों में घर से बाहर जाना तो दूर, लोग इस बारे में सोच भी नहीं पाते हैं। ठंड में लोगों का सबसे बड़ा डर सुबह- सुबह नहाकर ऑफिस या किसी अन्य काम से घर के बाहर निकलने का होता है। इस बीच वह ना ही शैंपू लगा पाते हैं और ना ही ढंग से नहा पाते हैं। ऐसे हालात में कुछ ऐसे टिप्स है, जिसे फॉलो कर अब स्मार्ट और बेहतर लुक पाया जा सकता है। यदि सर्दियों में आप किसी वजह से नहाना या शैंपू करना भूल गए हैं, तो आपको घबराने की कोई जरूरत नहीं है। साथ ही आपको इसकी चिंता करने की भी जरूरत नहीं कि आप कैसे दिखने वाले हैं। इन सब से बचने के लिए आपको बाथ वाइप्स और ड्राई शैंपू का उपयोग करना होगा। ठंड में अक्सर ब...

Read More
मूंग की होती है सबसे पौष्टिक दाल

नई दिल्ली । दालों में सबसे पौष्टिक दाल, मूंग की होती है। इसमें विटामिन ए, बी, सी और ई की भरपूर मात्रा होती है। साथ ही पौटेशियम, आयरन, कैल्शियम की मात्रा भी मूंग में बहुत होती है। इसके सेवन से शरीर में कैलोरी भी बहुत नहीं बढ़ती है। अगर अंकुरित मूंग दाल खाएं तो शरीर में कुल 30 कैलोरी और 1 ग्राम फैट ही पहुंचता है। अंकुरित मूंग दाल में मैग्‍नीशियम, कॉपर, फोलेट, राइबोफ्लेविन, विटामिन, विटामिन सी, फाइबर, पोटेशियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, आयरन, विटामिन बी -6, नियासिन, थायमिन और प्रोटीन होता है।मूंग की दाल के स्‍प्राउट में ग्‍लूकोज लेवल बहुत कम होता है इस वजह से मधुमेह रोगी इसे खा सकते हैं। म...

Read More
प्री-स्कूल शिक्षा बच्चों को तैयार करती है प्राथमिक शिक्षा के लिए

नन्हे बच्चों को प्री-स्कूल शिक्षा प्राथमिक शिक्षा के लिए तैयार करती है। कामकाजी माताओं के लिए भी यह किसी सहारे से कम नहीं है। यह एक सेतु की तरह काम करती है। इसका एक उदाहरण है दक्षिण-पूर्व वाशिंगटन डीसी में स्थित टर्नर प्राथमिक विद्यालय। इस विद्यालय में पांच साल तक की उम्र के बच्चे बेहद सक्रिय हैं। उत्सुकता से स्कूल के लिए तैयार होते हैं। टीचर की बात ध्यान से सुनते हैं। वजह है प्रीस्कूल शिक्षा। दरअसल इस प्राथमिक विद्यालय के बच्चों को उनकी प्रीस्कूलिंग के दौरान कराई गई गतिविधियों से मदद मिल रही है। स्कूल के प्रधानाचार्य एरिक बेथेल का कहना है कि स्कूल का अकादमिक परिणाम ...

Read More
बेसन का शीरा दिलाएगा सर्दी-जुखाम में राहत

सर्दियां में सभी सर्दी-जुखाम से परेशान हो जाते हैं। कमजोर रोग प्रतिरोधी शक्ति वाले लोगों के लिए तो इस मौसम में स्वस्थ रहना ही मुश्किल हो जाता है। सर्दी-जुखाम से बचने अच्छा आहार लेने के साथ ही साथ आपको इस बात का भी ध्यान रखना होता है कि आप संक्रमण रहित कपड़े पहनें और खुद को सर्दी से बचा कर रखें। जब बात सर्दी या जुकाम को ठीक करने या इसके इलाज की होती है, तो आपको इस बात का ध्यान रखने की जरूरत होती है कि आप बेहद गर्म दवाएं न खाएं। इनके कई साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं। तो सर्दी-जुकाम कर इलाज अगर घरेलू नुस्खों से किया जाए तो इससे अच्छा और क्या हो सकता है। घरेलू इलाज तो कई हैं पर बेसन का श...

Read More
ऑटिज्म पीड़ित बच्चे खाद्य पदार्थों के प्रति ज्यादा संवेदनशील

एक शोध में कहा गया है कि सामान्य बच्चों के मुकाबले ऑटिज्म से पीड़ित बच्चे कुछ खाद्य पदार्थों के प्रति ढाई गुना ज्यादा संवेदनशील होते हैं। ऑटिज्म के बच्चों में खाने से संबंधित एलर्जी आमतौर पर देखने को मिलती है। यूनिवर्सिटी ऑफ आयोवा में हुए अध्ययन में खाने से संबंधी एलर्जी के अलावा त्वचा और सांस से जुड़ी परेशानियों को भी शोध में शामिल किया गया। दो लाख से अधिक बच्चों पर हुए इस शोध में कहा गया है कि सामान्य बच्चों के मुकाबले ऑटिज्म से पीड़ित बच्चे कुछ खाद्य पदार्थों के प्रति ढाई गुना ज्यादा संवेदनशील होते हैं। इस खोज से ऑटिज्म स्पेक्ट्रम डिसऑर्डर (एएसडी) के लिए खराब इम्यू...

Read More
विटामिन डी से भरपूर आहार बच्चों के लिए जरुर

बच्चों के लिए विटामिन डी से भरपूर आहार जरुरी होता है। इसकी कमी से कई रोग हो जाते हैं। विटामिन डी से भरपूर आहार से बच्चों में कोलेस्ट्रॉल स्तर को कम करने में मदद मिल सकती है। इससे दिल संबंधी बीमारियों से जुड़े दूसरे खतरे भी कम होते हैं। इस शोध में कहा गया है कि जिन बच्चों में विटामिन डी का स्तर 80 एनएमओएल/एल (प्रति लीटर नैनोमोल) से ज्यादा होता है, उनमें 50 एनएमओएल/लीटर से कम विटामिन स्तर वाले बच्चों की तुलना में लोअर लो-डेंसिटी लिपोप्रोटीन (एलडीएल) या बुरा कोलेस्ट्रॉल स्तर होता है। 50एनएमओएल/लीटर को विटामिन डी पर्याप्तता की सीमा माना जाता है। शोधकर्ताओं ने करीब 500 बच्चों के आंकड...

Read More
कई बीमारियों के खतरे को करता है कम

जरुरी पोषक तत्वों से भरपूर होने के कारण सर्दियों में साग का महत्व और बढ़ जाता है। ये सर्दी-जुकाम से लेकर हृदय रोगों और कैंसर के खतरे तक को भी कम करते हैं। साग न सिर्फ स्वादिष्ट होता है, बल्कि विटामिन्स, मिनरल्स, फाइबर, एंटीऑक्सिडेंट्स और फाइटोन्यूट्रिएंट्स से भरपूर होने के कारण इनका सेवन सेहत के लिहाज से भी फायदेमंद होता है। साग में कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है। ठंड के मौसम में साग का सेवन पोषक तत्वों की आपूर्ति तो बढ़ा देता है, लेकिन वजन नहीं बढ़ने देता। साग में घुलनशील और अघुलनशील दोनों फाइबर होते हैं। इनसे शरीर का मेटाबॉलिज्म ठीक रहता है और वजन को नियंत्रित रखना आसान ...

Read More
छह माह से छोटे बच्चे को शहद देना ठीक नहीं

आमतौर पर घरों में छोटे बच्चों के बीमार होने पर घरेलू नुस्खे अपनाये जाते हैं। उन्हीं में केवल एक है शहद। छोटे बच्चों में सर्दी, जुकाम जैसी बीमारियां होने पर उन्हें शहद दिया जाता है। वहीं विशेषज्ञों के अनुसार कफ़ को खत्म करने के लिए शहद पारंपरिक नुस्खा है, पर क्या हर घरेलू नुस्खा बच्चों पर आजमाया जा सकता है यह सोचने की जरूरत है। कोई भी चीज बच्चों को इसलिए खाने के लिए नहीं दी जा सकती क्योंकि वह जड़ी बूटी या घरेलू नुस्खा है। बच्चों पर हर उस चीज का असर देखने को मिलता है जो भी वो खाते हैं। इसलिए शहद को बच्चों के लिए इस्तेमाल करते समय इस बात का ध्यान जरूर रखना चाहिए कि कहीं बच्चे को...

Read More
विटामिन डी की कमी से बच्चों की हड्डियां हो रहीं कमजोर

आजकल सर्दियों का मौसम है और बच्चों को धूप में रहने को कहें जिससें उनमें विटामिन डी की कमी कम होगी। विटामिन डी शरीर के लिए बहुत जरूरी है, यह कैल्शियम के स्तर को नियंत्रित करने का काम करता है। जो हड्डियों की मजबूती और तंत्रिता तंत्र की कार्य प्रणाली को सही रखने के लिए बहुत जरूरी है। इसके अलावा विटामिन डी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में भी मददगार है। इसकी कमी से हड्डियां कमजोर होने के साथ-साथ और भी कई तरह के रोग होने का खतरा बढ़ जाता है जिसके लक्षण एकदम ऊभर कर सामने नहीं आते। कई बार शुरुआत में इसकी कमी का पता नहीं चल पाता। विटामिन डी का स्तर कम होने से हड्डियां कमजोर हो रही...

Read More
सर्दी में इनके सेवन से हो सकता है नुकसान

अक्सर लोगों को लगता है कि सर्दी में कुछ भी खाने से सेहत को ज्यादा नुकसान नहीं होता है। इसी सोच की वजह से लोग जमकर खाते-पीते हैं लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है। सर्दी में भी कुछ चीजों का सेवन आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। पेय पदार्थ कॉफी, चाय, हॉट चॉकलेट ज्यादातर लोगों को पसंद होते हैं। सर्दी के मौसम में लोग जमकर इन सभी चीजों का सेवन करते हैं क्योंकि यह चीजें सर्दी में गर्माहट का एहसास कराती हैं पर ध्यान रहे इन सभी चीजों में मौजूद फैट और कैफीन शरीर को डी- हाइड्रेट कर देता है जिस कारण हमें कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। रेड मीट रेड मीट और अंडे में सबसे ज्यादा प्रोटी...

Read More
सर्दियों में बच्चों को इस प्रकार के कपड़े पहनायें

सर्दियां आ गयी हैं इस मौसम में बच्चों को सर्दी से बचाने के लिए उनके कपड़ों के चयन को लेकर सावधानी बरतनी चाहिए ताकि उन्हें ठंड भी न लगे और वे स्टाइलिश भी दिखें। शाइनिंग कलर्स, जैसे रेड और ग्रीन कलर्स के कपड़े खासतौर पर आकर्षित करते हैं और बच्चों पर अच्छे भी लगते हैं। बच्चों को ज्यादा भारी-भरकम कपड़े न पहनाएं। उनके लिए सर्दियों का मतलब सिर्फ शरीर को गर्म रखना नहीं है। बच्चे को बहुत ज्यादा कपड़े पहना देने से वह खेल के मैदान में ज्यादा उछल-कूद भी नहीं कर पाएगा। अगर बच्चा खुद से सही कपड़ों का चयन करता है तो उसे करने दें। सर्दियों में आप रंगों के साथ प्रयोग कर सकती हैं। आप अपने ब...

Read More
इंदौर शहर में मौसम का पूर्वानुमान

मौसम और मौसम की स्थिति पर रविवार 26 अगस्त इंदौर में मौसम और मौसम की स्थिति पर सोमवार 27 अगस्त इंदौर में मौसम और मौसम की स्थिति पर मंगलवार 28 अगस्त इंदौर में मौसम और मौसम की स्थिति पर बुधवार 29 अगस्त इंदौर में मौसम और मौसम की स्थिति पर बृहस्पतिवार 30 अगस्त इंदौर में मौसम और मौसम की स्थिति पर शुक्रवार 31 अगस्त इंदौर में मौसम और मौसम की स्थिति पर शनिवार 01 सितंबर इंदौर में मौसम और मौसम की स्थिति पर रविवार 02 सितंबर इंदौर में मौसम और मौसम की स्थिति पर सोमवार 03 सितंबर इंदौर में मौसम और मौसम की स्थिति पर मंगलवार 04 सितंबर इंदौर में रविवार, 26 अगस्त 2018 सूर्य: सूर्योदय 06:07, सूर्य...

Read More
बारिश के मौसम में ऐसे करें घर की देखभाल

बारिश के मौसम में घर की दीवारों, छतों के किनारों, किचन या फिर बाथरूम में सीलन और फंगस नजर आने लगती हैं। सीलन के कारण घर में से बदबू आने लगती है और इससे बीमारियां फैलने का डर भी रहता है। इससे घर की सुंदरता खराब होने के साथ परिवार की सेहत को भी नुकसान होता है। इस परेशानी को दूर करना आसान काम नही है लेकिन कुछ तरीके अजमाकर आप अपने घर को खुशनुमा बना सकते हैं। घर को नमी और सीलन से इस प्रकार बचायें किसी भी तरह की पानी की लीकेज को ठीक करवा लें। खिड़कियों व दरवाजों को जंग से बचाने के लिए उनपर पेंट करवाएं। किचन और अलमारी की शैल्फस पर पेपर बिछाकर सामान रखें। इससे नमी उन चीजों तक नहीं पहु...

Read More